खोदालाग

-नये आबाद गांवों व ढाणियों वालों से वसूल किया जाने वाला एक कर ।  -32/302.

खोदरड़ौ

-गृहस्थ संबंधी कार्यों का सिलसिला ।  -32/302.

खोद

-लोहे का टोप, शिरत्राण । 2. खुदाई ।  -32/302.

खोदणौ

-जमीन या किसी स्थान की खुदाई करना । 2. उखाड़ना । 3. बर्तनों आदि पर खुदाई का कार्य करना, नक्कासीकरना।-32/302.

खोथळौ

-बिना साफ की हुई ऊन का गुच्छा । 2. खोथ रोग से पीड़ित ऊंट या बकरी । 3. नपुंसक, हिंजड़ा । -32/302.

Copyright © Rajfolkpedia.com 2016 All rights reserved.                                                                                                                                                                          Website Developed By: Representindia.com