अजंगम

-छप्पय नामक मात्रिक छंद का 33वां भेद जिसमें 38 गुरु, 76 लघु से 114 वर्ण या 152 मात्राएं होती हैं ।          -18/74.

अगण

-छंद शास्त्र के आठ गणों में से वे गण जो काव्य रचना में अशुभ माने जाते हैं ।...जिसकी गणना ना हो ।         -18/53.


Copyright © Rajfolkpedia.com 2016 All rights reserved.                                                                                                                                                                          Website Developed By: Representindia.com