महाराजा मानसिंह पुस्तक प्रकाश

-जोधपुर दुर्ग में प्राचीन हस्तलिखित ग्रंथों और बहियां का संग्रहालय जो महाराजा मानसिंह पुस्तक प्रकाश के नाम से जाना जाता है । इसमें लगभग पांच हजार अमोलक हस्तलिखित ग्रंथ संग्रहीत हैं जिनमें से तीन हजार संस्कृत भाषा के और शेष दो हजार डिंगल भाषा के हैं । प्रमुख रूप से ये गं्रथ -काव्य, इतिहास, ज्योतिष, नाटक, बात-ख्यात, वंशावली, नीति, पुराण, योग, आयुर्वेद, जैनमत, वल्लभ संप्रदाय, नाथमत, वेदान्त, शकुन शास्त्र आदि विषयों के हैं । -35/149.

छप्पय

-छः चरणों का एक मात्रिक छंद । -32/424.

चौपाई

 -एक मात्रिक छंद विशेष ।

कवित्त

-1. छप्पय छंद । 2. इकत्तीस अथवा बत्तीस अक्षरों का एक वृत्त । 3. कविता । -32/212.

चौपई

-एक मात्रिक छंद विशेष ।

Copyright © Rajfolkpedia.com 2016 All rights reserved.                                                                                                                                                                          Website Developed By: Representindia.com