आभानगरी

-मांडूरो नाम आभानगरी है ।...खरवै तपरौ बेटो भैसोसाह आभानगरी हुवो ।...भेैंसोसाह जातरो गधइयो हो जिण संवत् 988.. 15/175.

आभल

-‘खींवौ-आभल’ लोक कथा की सुकुमार नायिका ।  -18/298.

आदपंखणी/आदपंखणीचक्रेस्वरी

-राठौड़ों की कुलदेवी ।   -18/286.       

आदिसराध

-मृत्योपरांत मृतक के पीछे ग्यारहवें दिन किये जाने वाले सोलह श्राद्धों में से पहला ।  -18/288.

आदगौड़

-भारद्वाज गौत्री ब्राह्मण कुल जो बंगाल/गौड प्रदेश से प्रारंभ हुआ और इस कुल का व्यक्ति ।    -18/286.


Copyright © Rajfolkpedia.com 2016 All rights reserved.                                                                                                                                                                          Website Developed By: Representindia.com