आंखमिचैणी/आंखमींचणी

-बच्चों का आंख मिचैनी का खेल । एक लड़का अपनी आंखें बंद कर लेता है और अन्य लड़के छिप जाते हैं, तब वह
लड़का बंद आंखों से ही किसी खिलाड़ी को पकड़ने या छूने का प्रयत्न करता है । जिस लड़के को छू लिया जाता है वह
अपनी आंख बंद कर वापस खेल आरंभ करता है । -18/244.

आंइणी

-वह गाय अथवा भैंस जो पुनः प्रसव तक कुछ अवधि के लिये दूध न देती हो । -18/241.

आसुर विवाह

-इस विवाह में पति कन्या के पिता या उसके संबंधियों को अपनी शक्ति के अनुसार धन देकर विवाह करता है । यह एक प्रकार का सौदा था । इसको अच्छा नहीं समझा जाता था क्योंकि यह कन्या के विक्रय के समान था । निंदनीय होते हुए भी इस प्रकार का विवाह अभी तक भी प्रचलित है । अब तो वर वधु के पिता से भी धन लेने लगे हैं । इसका मुख्य कारण बाल विवाहों का ज्यादा प्रचलन होना है । सीमित समय में ही पिता द्वारा पुत्री का विवाह कर देने की चिंता ने ही पति को धनदेना/दहेज आवश्यक कर दिया । -23/113.
-देखें ‘विवाह’ ।

आर्श विवाह

-यदि पिता एक जोड़ा पशु/एक गाय और एंक बैल, या दो जोड़ा पशु लेकर पिता कन्या को देता है तो वह ‘आर्श विवाह’ कहलाता है । जोड़ा पशु लेने से यह अर्थ नहीं है कि पिता कन्या का सौदा करता था । यह विवाह पुरोहितों और ब्राह्मणों के कुलों में ही प्रचलित था । यज्ञों की समाप्ति के साथ विवाह का यह प्रकार समाप्त हो गया ।   -23/112-3.

आसापुरा देवी

-बरबड़ी देवी/चारण कुलोत्पन्न का एक नाम । -18/323.
-आवड़देवी ने अपने परम भक्त जाम लखियार को उसकी आशा पूर्ण होने का वरदान दिया था, इसलिये उसी दिन से जाम लखियार के वंशज समस्त सामेचा क्षत्रीय जो अब तक अपने पूर्वज जामजाड़ा के नाम में ‘जाडेजा’ कहलाते हैं, आवड़ माता को अब भी आशापुरा के नाम से पुकारते हैं तथा पूजते हैं और उसको अपनी कुलदेवी मानते हैं । 9/56.
-राव लाखणनूं नाडूल देवी आसापुरी तूठी । नाडूलरो राज दियो । तरै देवीसूं अरज की, ‘म्हारै घोड़ा नहीं’ । तरै देवी कह्यो-‘फलांणै दिन सोबतरा घोड़ा छूटनै आपथी आप आवसी ।’ पछै घोड़ा 13000 ढळनै नाडूल आया । वांसै घोड़ां रा धणी आया, तरै देवी घोड़ांरा रंग फेरिया । 10/191.


Copyright © Rajfolkpedia.com 2016 All rights reserved.                                                                                                                                                                          Website Developed By: Representindia.com