कांकरी

 -छोटा कंकड़ ।
-जैसलमेर की मांगणियार लोक गायक जाति द्वारा मांगलिक उत्सवों पर अपने जजमानों के यहां वाद्य-संगीत राग प्रस्तुति द्वारा खेले जाने वाला खेल ।

रंगमल्ली

-बीन, वीणा ।

पटह

-1. दुन्दुभी, नगाड़ा । 2. बड़ा ढोल । 3. प्रथम गुरु ढगण का एक भेद ।  -33/17.

पठमंजरी

-एक रागिनी विशेष ।

पटवाद्य

-झांझ से मिलता-जुलता एक वाद्य ।

Copyright © Rajfolkpedia.com 2016 All rights reserved.                                                                                                                                                                          Website Developed By: Representindia.com