सिंगौ

-1. फूंक कर बजाये जाने वाला बाजा विशेष, नरसिंहा ।  -33/776.

ढोलक

 -ढोल के अनुरूप बना छोटा वाद्य ।
-देखें ‘ढोलक वाद्य ।

धूंसौ

 -1. धातु का बना नगाड़ा । 2. नगाड़ा । 3. नगाड़े पर होने वाला प्रहार । 4. नगाड़ा बजाने का डंडा । 5. एक राजस्थानी लोक गीत । 6. सामर्थ्य । 7. ओढ़ने का ऊनी वस्त्र विशेष । -32/711.

ढोल

 -लकड़ी या लोहे के गोल घेरे के दोनों ओर चमड़ा मंढ़ कर तैयार किया वाद्य, 2. लोहे आदि का गोल बड़ापात्र, टंकी ।-32/549.
-देखें ‘ढोल वाद्य’ ।

पणव

-छोटा नगाड़ा । छोटा ढोल ।

Copyright © Rajfolkpedia.com 2016 All rights reserved.                                                                                                                                                                          Website Developed By: Representindia.com