पठांणी

-पठान का, पठान संबंधी । -स्त्री. पठान जाति की स्त्री ।

पटेल

-देखें ‘पिटल’ ।

पटकाय

-कपड़ा बुनने वाला, जुलाहा, ततुकाय । चित्रकार । -33/17.

पटवौ

-हार आदि गूंथने का कार्य करने वाला व्यक्ति ।

पड़िहार

 -प्रतिहार ।
-साखें -पड़िहार, 2. इंर्दा, मळसिया, काळपाघड़िया, बूलणा, 3. लूला, रामियारा पोतरा, 4. रोमवटा, 5. बोथा -मारवाड़ मांहे छै, पाटोदी धकै छै । 6. बारी - मेवाड़ मांहे रजपूत छै, मारवाड़ में तूरक छै । 7. धांधिया -पाधरा रजपूत घणा छै , जोधपररी में छै । 8. खरवर -मेवाड़ में घणा । 9. सीधका - मेवाड़ में नै बीकानेर रै देस में छे । 10. चोहिल -मेवाड़ में घणा । 11. भळू - सीरोही-जाळोर’री में घणा । 12. चैनिया -फलोधी दिसा छै । 13. बोजरा । 14. झांगरा -मारवाड़ में भाट छै । धनेरियै, भूंभिळयै नै खीचीवाड़ै रजपूत छै । 15. वाफणा - वांणिया । 16. चौपड़ा -वांणिया छै । 17. पेसवाळ - रबारी, खोखरियावाळा । 18. गोढ़ला । 19. टाकसिया -मेवाड़ में छै । 20. चांदोरा - कुंभार, नींबाजवाळा । 21. माहप - रजपूत मारवाड़में घणा । 22. डूरांणा - रजपूत छै । 23. सवर - मारवाड़में रजपूत छै । 24. खुंमोर । 25. सांमोर । 26. जेटवा- पड़िहारां भिलै   -10/80
-जोधपुर के कोट में राजा बाड़क पड़िहार का लेख पत्थर पर खुदा हुआ -1000 वरस पुराना मिला । जिसमें इन्हें ब्राह्मण हरिश्चंद्र की औलाद बताया है ।
-नाहड़राव पड़िहार मशहूर हुआ । इसने ही पुष्करजी की ताल खुदाया । सूअर खाना छोड़ा । पड़िहार सूअर नहीं खाते ।
-इंदा पड़िहार की एक खांप । चामुंडा इनकी कुलदेवी ।
-नीच जाति में मिल जाने के कारण इनकी नीच जाति भी निकली । वांभियां में मिल जाने के कारण ‘लखणिया ढेढ़’
-लखाजी इंदा की औलाद है ।
-विश्वास है कि इंदों पर बिजली नहीं गिरती । यह इसे अपने दादा खाखूजी का वरदान मानते हैं ।
-इंदों के गांवों में मरी नहीं पड़ती ।
-पड़िहारांरै गोत्रजण देवी ।... पड़ियार नाहड़राय पूरबसूं आय गजणरो वर पाय मारानूं मारि मारवाड़ लिवी । ....पड़ियार नाहड़राय मंडोवर गढ़ करायो, पुसकरजी बंधायो । .....पड़िहारांकनैसूं रायपाळ धूहड़ोत मंडोवर लियो, छूट गयो ।...‘अेह न मदची रूपड़ा, बुध घर पड़ियार ।’.....पड़ियार वेळो बीकाजी साथै गयो बीकानेर, उठै वेळासर गांव वसायो । ....पड़ियार अेक भाई तबेलारो, दूजो भाई तोपांरो दरोगो जोधपुर । 15/130. -पड़ियार राणो रूपड़ियो जिणरै बारै बेटी हुई । गयाजीमें इण कही-बारै ही कन्या बारै रावांनूं परणावसूं इग्यारै कन्या तो इग्यारै रावानूं परणायी । बारमी कन्यानूं राव न मिलिया जद भाटी राव केल्हणनूं बारमी बेटी परणायी । उण दिनसूं पड़िहारां भाटियांरै सनमंध हुवो । -15/130.


Copyright © Rajfolkpedia.com 2016 All rights reserved.                                                                                                                                                                          Website Developed By: Representindia.com